Showing posts with the label Hindi Sahitya

Tulsidas Ka Jivan Parichay तुलसी दास का जीवन परिचय Hindi Me By Rexgin.in

इस पोस्ट में मैं आपसे तुलसी दास का जीवन परिचय शेयर करने वाला हूँ इस पोस्ट को अपने ब्लॉग rexgin.in में लिखने से पहले मैंने एक पोस्ट लिखा था तुलसीदास के दोहों के बारे में जिसमें हमने आपको बताया था। …

तुलसीदास के दोहे हिंदी में tulsidas ke dohe arth ke sath hindi me

तुलसीदास के दोहे हिंदी में अर्थ के साथ  tulsidas जो की सुंदरकांड से लिए गए हैं -   tulsidas ke dohe  हनुमान तेहि परसा कर  पुनि कीन्ह प्रनाम । राम काजु कीन्हें बिनु मोहि कहाँ बिश्राम …

हिंदी साहित्य के बारे में जानकारी

सभी मित्रों का एक बार फिर से स्वागत है, आज हम बात करने वाले हैं हिंदी साहित्य के इतिहास की पुनर लेखन की समस्या पर और हिंदी साहित्य के आधारभूत सामग्री एवं क्रमिक विकास का वर्णन हम यहां पर करने वाले है…

अर्धमागधी भाषा : ardhmagdhi bhasha

अर्धमागधी भाषा मागधी और शौरसेनी के बीच के क्षेत्र की भाषा थी। अर्थात यह भाषा मगध अर्थात दक्षिण बिहार के और मथुरा के बीच के जो क्षेत्र बचते हैं वहां पर बोले जाते थे। क्योकि इन क्षेत्रों में क्रमशः म…

शौरसेनी प्राकृत : shaurseni prakrit

शौरसेनी प्राकृत शौरसेनी प्राकृत वह भाषा है जो मथुरा या शूरसेन जनपद में बोली जाती थी।  यह प्राकृत भाषा के पांच प्रमुख भेद के अंतर्गत आने वाला पहला भाषा है।  शौरसेनी प्राकृत मध्यकाल काल में उत्तरी …

मागधी प्राकृतिक : magdhi prakrit

मागधी प्राकृत Magadhi prakrit hindi sahitya मागधी प्राकृत मगध के आसपास प्रचलित भाषा थी। मगध अर्थात दक्षिण बिहार के अंतर्गत का क्षेत्र । मागधी प्राकृत भाषा का उल्लेख भगवान बुद्ध के सं…

question answer general knowledge Hindi Sahitya 01

स्वागत है आपका इस ब्लॉग पर आज हम आपके लिए लिख रहें हैं, हिंदी साहित्य (Hindi Sahitya) से जुड़े सवालों और उसके जवाबों के बारे में एक पोस्ट, यहां पर हम उन महत्वपूर्ण प्रश्न और उत्तर के बारे में जानेंग…
Subscribe Our Newsletter