computer course kya kya hota hai

हिन्दी कॉपी पेस्ट डेमो के लिए 

12वीं करने के बाद कई क्षेत्र या कोर्स ऐसे हैं जिन्हे करने में काफी लंबा समय लगता है। लेकिन कुछ कोर्स ऐसे भी हैं जो केवल 6 से 12 महीने की अवधि में किए जा सकते हैं और इन कोर्स को करने के बाद करियर को नई दिशा दी जा सकती है। हम बात कर रहे हैं कम्प्यूटर कोर्स की। जी हां...आधुनिक युग में हर काम कम्प्यूटर पर ही किया जाता है। लिहाज़ा इन्हे संचालित करने और हैंडल करने के लिए लोगों की डिमांड भी बढ़ी है। इसीलिए इस फील्ड में बेहतर करियर ऑप्शन मौजूद हैं जिनमें करियर बनाया जा सकता है। हम आपको ऐसे ही कुछ कोर्स की जानकारी दे रहे हैं जो 12वीं पास छात्रों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती है।


डीटीपी कोर्स

डीटीपी यानि डेस्क पब्लिशिंग कोर्स जिसे करने के बाद सभी तरह के बैनर, कार्ड, किताबें, पुस्तक कवर, मैनुअल, ब्रोशर बनाने में कम्प्यूटर एप्लीकेशन का इस्तेमाल करना सिखाते हैं। इस कोर्स को करने के बाद ग्राफिक्स और छवि संपादन की फील्ड में नौकरियां मिल सकती हैं। पब्लिकेशन हाउस में भी में भी डीटीपी प्रोफेशन की जरूरत रहती है। इस कोर्स को करने के बाद सरकारी नौकरियां भी मिल सकती है।


बेसिक कम्प्यूटर कोर्स

कम्प्यूटर का बेसिक कोर्स भी 12वीं पास छात्रों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है। ये कोर्स कम अवधि का होता है जिससे समय की बचत होती है तो वही इस कोर्स को करने के बाद नौकरी के ऑप्शन भी खुल जाते हैं।


साइबर सुरक्षा और एथिकल हैकिंग कोर्

आधुनिक युग में हम जितने विकसित हुए हैं असुरक्षा का माहौल उतना ही बढ़ गया है। कम्प्यूटर हैंकिंग कर साइबर क्राइम को अंजाम दिया जाता है। आज बैंकिंग, बिलों का भुगतान, शॉपिंग ऑनलाइन ही की जाकी है। लेकिन इन सब में सुरक्षा के खतरों का सामना भी करना पड़ रहा है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद सुरक्षा विशेषज्ञ के रूप में नौकरी हासिल की जा सकती है।


एमएस ऑफिस सर्टिफिकेशन प्रोग्राम

एमएस ऑफिस यानि कि माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के ज़रिए कम्प्यूटर पर काम को आसान बनाया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद कार्यालयों में कम्प्यूटर से जुड़ी नौकरियां आसानी से मिल जाती है।


प्रोग्रामिंग लैंगवेज कोर्स

कम्प्यूटर प्रोग्राम लिखने में इस्तेमाल होने वाली भाषा कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग कहलाती है। जैसे –C, C++, JAVA, PYTHON, JAVA SCRIPT,HACK, ASP,NET,PERL,RUBY,PHP,SQL। इस कोर्स को करने के बाद सॉफ्टवेयर डेवलेपर की नौकरी मिल सकती है। 

एनीमेशन और मल्टीमीडिया कोर्स

12वीं के बाद छात्रों का ये पसंदीदा कोर्स बनता जा रहा है। ये कोर्स क्रिएटिविटी की डिमांड रखता है। अगर आप भी क्रिएटिव करने की इच्छा रखते हैं तो ये कोर्स कर अपने करियर को नई उड़ान दे सकते है। बहुत से सरकारी और निजी संस्थान ये कोर्स करवाते हैं जिन्हे करने के बाद एनिमेशन स्टूडियो, विज्ञापन एंजेसियों, मीडिया हाउस, मीडिया चैनल, पब्लिकेशन हाउस में नौकरी पा सकते हैं।


कम्प्यूटर हार्डवेयर मेंटेनेंस

कुछ छात्र सॉफ्टवेयर में तो कुछ की दिलचस्पी हार्डवेयर में रहती है। इसलिए हार्डवेयर मेंटेंनेंस का कोर्स भी किया जा सकता है। इसमें खास तौर से हार्डवेयर रखरखाव, कम्प्यूटर हार्डवेयर, की मरम्मत सिखाई जाती है।


इसके अलावा कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा, कम्प्यूटरीकृत अकाउंटिंग, डिप्लोमा इन कम्प्यूटर एप्लीकेशन का कोर्स भी किया जा सकता है।

Related Posts

कितनी भी हो मुश्किल थोड़ा भी न घबराना है, जीवन में अपना मार्ग खुद बनाना है।