ads

निबंध लेखन का प्रारूप

निबंध , आम तौर पर, लेखन का एक भाग है जिसमे लेखक अपना तर्क देता है , लेकिन परिभाषा अस्पष्ट है। निबंधों को औपचारिक और अनौपचारिक के रूप में वर्गीकृत किया गया है: औपचारिक निबंधों मे "गंभीर उद्देश्य, गरिमा, तार्किक संगठन जैसे विशेषता होती है, जबकि अनौपचारिक निबंध मे "व्यक्तिगत तत्व, हास्य, सुंदर शैली, अपरंपरागतता या विषय की नवीनता, " जैसे विशेषता होती है। 

जैसा कि शेक्सपियर ने कहा था, "कलम तलवार से अधिक शक्तिशाली है," लेकिन एक प्रभावी लेखक बनाने के लिए कलम ही पर्याप्त नहीं है। इसके लिए ज्ञान का होना अति आवश्यक हैं।

निबंध लिखने के नियम

संकेत पढ़ें और समझें - ठीक से जानें कि आपसे क्या पूछा जा रहा है। प्रॉम्प्ट को भागों में विभाजित करना एक अच्छा विचार है।

योजना - जब आप अपना निबंध लिखने जाते हैं तो अपने विचारों पर विचार-मंथन और व्यवस्थित करना आपके जीवन को बहुत आसान बना देगा। अपने विचारों और सहायक विवरणों का एक वेब बनाना एक अच्छा विचार है।

स्रोतों का उपयोग करें - अपना शोध करें। अपने स्रोतों से उद्धरण और व्याख्या का प्रयोग करें, लेकिन कभी भी साहित्यिक चोरी न करें।

प्रारूप लिखें - अर्नेस्ट हेमिंग्वे ने एक बार कहा था, "किसी भी चीज का पहला प्रारूप हमेशा बकवास होता है।" जबकि इस कथन के पीछे की सच्चाई बहस का विषय है, प्रारूप हमेशा आपके किसी भी विचारों को हटाने के लिए एक अच्छी जगह है।

प्रारूप मे बदलाव - एक बार जब आप अपने प्रारूप में किसी भी तरह की गड़बड़ी का पता लगा लेते हैं, तो आप अपने निबंध का अंतिम थीसिस लिखना शुरू कर सकते हैं।

अपने निबंध को पड़ना - अपनी प्रतिक्रिया को ध्यान से पढ़ें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि कोई गलती नहीं है और आपने कुछ भी नहीं छोड़ा है।

  1. विद्यार्थी जीवन और अनुशासन 
  2. विज्ञान के चमत्कार अथवा विज्ञान के बढ़ते चरण 
  3. जीवन में खेलों का महत्व 
  4. आधुनिक भारतीय नारी अथवा भारतीय नारी का महत्व 
  5. नक्सलवाद और छत्तीसगढ़ 
  6. वृद्धावस्था की आनंद एवं कुंठाएँ 
  7. यातायात-नियमों के पालन की आवश्यकता अथवा सड़क दुर्घटना जिम्मेदार कौन?
  8. स्वच्छता अभियान में छात्रों की भूमिका 
  9. पर्यावरण प्रदूषण के कारण और निदान 
  10. वर्तमान शिक्षा-प्रणाली 
  11. मेक इन इंडिया 
  12. मोबाइल क्रान्ति 
  13. विज्ञान की उपलब्धि : कम्प्यूटर 
  14. वन रहेंगे तो हम रहेंगे
  15. साहित्य और समाज
  16. दहेज प्रथा अथवा दहेज प्रथा एक अभिशाप 
  17. पश्चिम संस्कृति का अंधानुकरण 

Related Posts

Subscribe Our Newsletter