Ads 720 x 90

मुहावरे और लोकोक्तियाँ - हिंदी व्याकरण

 20.  मुहावरे और लोकोक्तियाँ : Idioms and Proverbs


लोकोक्ति की परिभाषा बताइए लोकोक्तियाँ एवं मुहावरे लोकोक्ति किसे कहते हैं मुहावरे बताइए मुहावरे की परिभाषा उदाहरण सहित मुहावरे किसे कहते हैं मुहावरे का अर्थ और वाक्य मुहावरे का अर्थ मुहावरे की परिभाषा मुहावरे और लोकोक्ति में अंतर उदाहरण मुहावरे और लोकोक्तियाँ मुहावरे और लोकोक्ति में अंतर

मुहावरे और लोकोक्तियाँ 

आपका हमारे ब्लॉग में स्वागत है। पिछले पोस्ट में मैंने आपके साथ शेयर किया था विराम-चिन्ह के बारे में और आज मुहावरे और लोकोक्तियों के बारे में जानेंगे। इससे पहले भी हमने छत्तीसगढ़ी व्याकरण में मुहावरे और लोकोक्तियों के बारे में लिखे है चाहे तो आप पढ़ सकते हैं। 

मुहावरे और लोकोक्तियों का प्रयोग जब हम अपनी बोली में या भाषा में करते हैं तो उससे एक आकर्षण हमारे द्वारा दी जा रही भाषण में या बोली में उत्पन्न होती है। जो की काफी ज्यादा प्रभावित करती है आपके बोलने के तौर तरिके से लोग प्रभावित होते हैं।

इसलिए यह व्याकरण से हटकर अपनी अलग पहचान रखता है जैसे जैसे आगे बढ़ते जायेंगे आपको समझ आता जाएगा बनिये रहिये मेरे साथ मैं हूँ। लेखक खिलावन। 

मुहावरे किसे कहते हैं

मुहावरे किसी भी वाक्य के एक अंश होते हैं, मतलब की एक हिस्सा होता है, पार्ट होता है। इसका कोई सामान्य अर्थ नही है बल्कि ये विशेष अर्थ का बोध कराते हैं। 

ईद का चाँद होना - कभी-कभी दिखाई देना। 

आइये कुछ उदाहरणों के माध्यम से इसे समझें -

1. आंखें चुराना मुहावरे का अर्थ क्या है? 

आंखें चुराना अर्थ - नजर बचाना। 

वाक्य में प्रयोग - मुसीबत के समय तुमने रूपये उधार ले लिए किन्तु अब आँखें चुराऐ फिरते हो कि कहीं मैं मांग ना लूँ। 

2. कलेजा मुँह को आना मुहावरे का वाक्य में प्रयोग और अर्थ?

कलेजा मुंह को आना का अर्थ है - मन घबरा जाना।  

वाक्य में प्रयोग - बच्चे को रोता देखकर माँ का कलेजा मुँह को आ गया। 

3. काम तमाम करना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग 

काम तमाम करना का अर्थ है - मार देना। 

वाक्य में प्रयोग - पुलिस ने समय पर कार्यवाही कर आतंकवादी का काम तमाम कर दिया। 

4. काँटें बिछाना 

कांटे बिछाने का अर्थ - बाधा उत्पन्न करना। 

 वाक्य में प्रयोग - जो व्यक्ति दूसरे की सफलता की राह में काँटे बिछाता है, वह खुद पीछे रह जाता है। 

5. गागर में सागर भरना मुहावरे का अर्थ और वाक्य में प्रयोग 

गागर में सागर भरना का अर्थ - थोड़े में बहुत कह देना। 

वाक्य में प्रयोग - महान कवि कबीर दास के दोहे गागर में सागर भरने को महत्वपूर्ण विशेषता लिए हुए हैं। 

6. गुड़-गोबर करना 

गुड़ गोबर करना का अर्थ - बना-बनाया काम बिगाड़ देना। 

वाक्य में प्रयोग - मेरा काम करने के लिए वह मोनू मान चुका था, परन्तु तुम्हारे क्रोध ने सब गुड़-गोबर कर दिया। 

7. जान पर खेलना 

जान पर खेलना अर्थ - जिंदगी जोखिम में डालकर कार्य करना

जान पर खेलना मुहावरे वाक्य में प्रयोग - हमें इस सत्य को कभी नहीं भूलना चाहिए की एक सिपाही अपनी जान पर खेलकर देश की रक्षा करता है। 

8. जान के लाले पड़ना 

जान पर खेलना मुहावरे का अर्थ और वाक्य - गहरे दुःख में फँसना। 

जान के लाले पड़ना मुहावरे का वाक्य में प्रयोग - वह तुम्हारी कोई सहायता नहीं कर पाएगा। जबसे उसने नया व्यापार शुरू किया है, तब से तो उसको जान के लाले पड़ गए हैं। 

9. जमीन पर पैर न पड़ना 

जमीन पर पाँव न पड़ना" मुहावरे का सही अर्थ क्या हैं?

जमीन पर पैर न पड़ना - अहंकार होना। 

वाक्य में प्रयोग - जब से बेटा डॉक्टर बना है, राधिका के तो पैर ही जमीन पर नहीं पड़ते। 

10. चैन की बंसी बजाना 

चैन की बंशी बजाना मुहावरे का अर्थ - आनंदमग्न होना। 

वाक्य में प्रयोग - काश! आज भारत में हर तरफ रामराज्य होता, तो लोग चैन की बंसी बजाते नजर आते। 

11. छक्के छुड़ाना 

छक्के छुड़ाना का अर्थ - बुरी तरह पराजित करना। 

छक्के छुड़ाना मुहावरे का प्रयोग - कारगिल युद्ध में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना के छक्के छुड़ा दिए। 

12. टाँग अड़ाना 

टाँग अड़ाना मुहावरे का अर्थ वाक्य - हस्तक्षेप करना। 

टांग अड़ाना मुहावरे का वाक्य में प्रयोग - यदि तुम किसी के काम नहीं आ सकते, तो बनते काम में टांग अड़ाने का तुम्हें कोई हक़ नहीं है। 

13. दिन दूनी रात चौगुनी उन्नति करना 

दिन दूनी रात चौगुनी का अर्थ - लगातार तरक्की करना। 

वाक्य में प्रयोग - यह अनिल अम्बानी के दिन-रात परिश्रम का ही परिणाम है कि उसका व्यापार दिन दूनी रात चौगुनी उन्नति कर रहा है। 

14. नाक कटना 

नाक काटना मुहावरे का अर्थ - अपमानित होना। 

नाक काटना मुहावरे का वाक्य प्रयोग - बिजली चोरी के मामले में पकड़े जाने के कारण वर्मा साहब की नाक कट गई। 

15. पानी-पानी होना 

पानी पानी होना का अर्थ - लज्जित होना। 

पानी पानी होना वाक्य में प्रयोग - परीक्षा भवन में नकल करते हुए पकड़े जाने पर अनुरोध पानी-पानी हो गया। 

16. श्री गणेश करना 

श्री गणेश करना मुहावरे का अर्थ - कार्य का शुभारम्भ करना। 

 श्री गणेश करना वाक्य में प्रयोग - भारतीय संस्कृति के अनुसार किसी भी महत्वपूर्ण कार्य का श्री गणेश करने से पूर्व श्री गणेश का स्मरण अवश्य करना चाहिए। 

17. लोहे के चने चबाना

लोहे के चने चबाना का मतलब - अत्यधीक संघर्ष करना। 

वाक्य में प्रयोग - तात्या टोपे स्वतंत्रता-संग्राम के ऐसे सेनानी थे, जिन्होंने अंग्रेजों को लोहे के चने चबवा दिए। 

18. बाल भी बाँका न होना 

बाल बाँका न होना का अर्थ - कुछ भी न बिगड़ना। 

वाक्य में प्रयोग - बस दुर्घटना में कई लोग मारे गए, परन्तु एक छोटी-सी बच्ची का बाल भी बाँका न हुआ। 

19. पापड़ बेलना 

पापड़ बेलना अर्थ - बेकार जीवन बिताना। 

पापड़ बेलना वाक्य प्रयोग - पाँच साल मुम्बई में रहे, फिर भी कुछ नहीं सीखा। क्या यूँ ही पापड़ बेलते रहें?

20. डंके की चोट पर कहना 

डंके की चोट पर मुहावरे का अर्थ - निडरतापूर्वक कहना। 

डंके की चोट पर मुहावरे का वाक्य प्रयोग - मुझे किसी से डरने की आवश्यकता नहीं है, मैं तो जो कुछ कहूँगा, डंके की चोट पर कहूँगा। 

21. पसीना-पसीना होना

पसीना-पसीना होना मुहावरे का अर्थ - बहुत थक जाना। 

वाक्य में प्रयोग - घर की सफाई करते-करते मैं पसीना-पसीना हो गया। 

22. पगड़ी उछालना 

पगड़ी उछालना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग - बेइज्जत करना। 

 किसी की पगड़ी उछालोगे तो पिट जाओगे। 

23. फूँक-फूँककर कदम रखना 

फूँक-फूँककर कदम रखना मुहावरे का अर्थ - सावधानी से कार्य कारना। 

 वाक्य में प्रयोग - व्यापार हो चाहे उद्योग, फूँक-फूँककर कदम रखना चाहिए। 

24. पौ बारह होना 

पौ बारह मुहावरे का अर्थ - खूब लाभ होना। 

वाक्य में प्रयोग - सूना है की उसकी शादी बड़े अमीर घर में होने वाली है, अब तो उसके पौ बारह हैं। 

25. रंग बदलना 

रंग बदलना मुहावरे का अर्थ - परिवर्तन होना। 

रंग बदलना मुहावरे का वाक्य में प्रयोग - जमाने ने कुछ ऐसा रंग बदला कि सब देखते रह गए। 

26. रास्ते पर लाना 

रास्ते पर लाना मुहावरे का अर्थ - सुधार करना। 

वाक्य में प्रयोग - इस बिगड़े लड़के को कोई रास्ते पर ला दे तो एहसानमंद रहूँगा। 

27. लेने के देने पड़ना 

लेने के देने पड़ना मुहावरे का अर्थ एवं वाक्य प्रयोग - लाभ की जगह हानि होना। 

वाक्य में प्रयोग - जो मैं देता हूँ ले लो, मुझे अकड़ मत दिखाओ वरना लेने के देने पड़ जाएँगे। 

28. पैरों पर खड़ा होना 

पैरों पर खड़ा होना मुहावरे अर्थ - स्वावलम्बी होना। 

वाक्य में प्रयोग - बाप को संतोष है कि लड़का अब अपने पैरों पर खड़ा है। 

29. पैरों तले जमीन खिसक जाना 

पैरों तले जमीन खिसक जाना मुहावरे का अर्थ - होश उड़ जाना। 

वाक्य में प्रयोग - जब श्याम चोरी करते हुए रँगे हाथ पकड़ा गया तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। 

30. बाएँ हाथ का खेल 

बाएँ हाथ का खेल मुहावरे अर्थ - अति सरल काम। 

वाक्य में प्रयोग - इस खेल को जीतना तो मेरे बाएँ हाथ का खेल है। 

31. बाल की खाल उतारना 

बाल की खाल उतारना मुहावरे का अर्थ - बारीकी निकालना। 

वाक्य में प्रयोग - अनुज से कुछ भी बात करो लेकिन वह बाल की खाल उतारने लगता है। 

लोकोक्ति किसे कहते हैं

लोक+उक्ति अर्थात लोक में प्रचलित होता है, वह लोकोक्ति कहलाता है। 

1. आम के आम गुठलियों के दाम 

आम के आम गुठलियों के दाम लोकोक्ति का अर्थ - दोहरा लाभ होना। 

वाक्य में प्रयोग - अभ्यास करते रहने से समय भी गुजरता है तथा ज्ञान भी बढ़ता है। इसी को कहते हैं आम के आम गुठलियों के दाम। 

2. आप भला तो जग भला 

आप भला तो जग भला लोकोक्ति का अर्थ - अच्छे व्यक्ति को संसार का प्रत्येक व्यक्ति भला लगता है। 

शीतल चची को मोहल्ले भर के लोगों में से किसी में भी बुराई नजर नहीं आती, चाहे कोई कितना भी दुष्ट क्यों न हो। सच कहा गया है - आप भला तो जग भला। 

3. एक मछली सारे तालाब को गंदा कर देती है 

एक मछली सारे तालाब को गंदा कर देती है लोकोक्ती का अर्थ - एक बुरा व्यक्ति सारे समाज को बदनाम कर देता है। 

वाक्य में प्रयोग - मोहिनी का चाल-चलन ठीक नहीं था, इसलिए प्रधानाचार्य ने उसे स्कूल से निकाल दिया। किसी ने ठीक ही कहा है की एक मछली सारे तालाब को गंदा कर देती है। 

4. अब पछताए होत क्या जब चिड़ियाँ चुग गई खेत 

अब पछताए होत क्या जब चिड़ियाँ चुग गई खेत का अर्थ - अवसर निकलने के पश्चात पश्चाताप से क्या लाभ। 

वाक्य में प्रयोग - तुम साल भर तो पढ़े नहीं, अब परीक्षा में अनुतीर्ण होने पर रो रहे हो। भाई, अब पछताए होत क्या जब चिड़ियाँ चुग गई खेत। 

5. जल में रहकर मगर से बैर 

जल में रहकर मगर से बैर लोकोक्ति का अर्थ - समाज में रहते हुए प्रभावशाली लोगों से दुश्मनी रखना हानिकारक ही है। 

वाक्य में प्रयोग - इस इलाके में फैक्टरी लगानी हैं, तो पहले सरकारी अफसरों से झगड़ा छोड़ मेल-जोल बढ़ाओ क्योंकि जल में रहकर मगर से बैर नहीं रखा जा सकता। 

6. ऊँट के मुँह में जीरा 

ऊँट के मुँह में जीरा लोकोक्ति का अर्थ - जरूरत की अपेक्षा बहुत कम मिलना। 

वाक्य में प्रयोग - रीता को बहुत भूख लगी थी लेकिन खाने को मिली उसे एक रोटी। इसे कहते हैं - ऊँट के मुँह में जीरा। 

7. अधजल गगरी छलकत जाए 

अधजल गगरी छलकत जाए लोकोक्ति का अर्थ - कम ग्यानी अधिक अहंकारी होता है। 

वाक्य में प्रयोग - मनीष ज्यादा पढ़ा-लिखा नहीं है, किन्तु अंग्रेजी में गिट-पिट करके रोब जमाना चाहता है। सच ही कहा गया है, अधजल गगरी छलकत जाए। 

8. गेंहूँ के साथ घुन भी पिसता है 

गेंहूँ के साथ घुन भी पिसता है लोकोक्ति का अर्थ - दोषी के साथ निर्दोष का उलझना। 

वाक्य में प्रयोग - राहुल, तुमसे कहा था विनोद का साथ छोड़ दो, लेकिन तुम नहीं माने। अब वह ड्रग्स के साथ में पकड़ा गया, तो पुलिस के शक की सुई तुम्हारी तरफ भी घूम रही है। सच ही कहा गया है - गेहूँ के साथ घुन भी पिसता है। 

9. होनहार बिरवान के होत चीकने पात 

 होनहार बिरवान के होत चीकने पात लोकोक्ति का अर्थ - प्रतिभा का आभास पहले ही हो जाता है। 

वाक्य में प्रयोग - विवेकानंद की बचपन से ही धार्मिक परिचर्चा में अधिरूचि थी। बड़े होकर वे एक महान दार्शनिक बने। सच ही है - होनहार बिरवान के होत चीकने पात। 

10. घर का भेदी लंका ढाए 

घर का भेदी लंका ढाए लोकोक्ति का अर्थ - आपसी फूट से हानि होती है। 

वाक्य में प्रयोग - अंग्रेजी वीर तात्या टोपे को कभी न पकड़ पाते, यदि उनका मित्र मान सिंह अंग्रेजों को तात्या के छिपने  स्थान न बताते। सच ही कहा है - घर का भेदी लंका ढाए। 

11. जिसकी लाठी उसकी भैंस 

जिसकी लाठी उसकी भैंस लोकोक्ति का अर्थ - शक्तिशाली की ही जीत होती है। 

वाक्य में प्रयोग - चुनावों में एक तरफ गाँव के जमींदार खड़े हुए हैं, जिनके पास अपार धन-दौलत है। गाँव में उनके नाम का सिक्का चलता है, दूसरी तरफ गरीब मास्टर जी है। मास्टर जी भला जमींदार के सामने क्या चुनाव जीतेंगे। ठीक कहा गया है - जिसकी लाठी उसकी भैंस। 

12. जैसी करनी वैसी भरनी 

जैसी करनी वैसी भरनी लोकोक्ति का अर्थ - कर्मों का फल भोगना ही पड़ता है। 

वाक्य में प्रयोग - रिश्वत लेकर लाखों रुपया जोड़कर ऐश करते रहे। अब पकड़े गए, तो जेल में सड़ना ही होगा। कहते हैं - जैसी करनी वैसी भरनी। 

13. न रहेगा बाँस न बजेगी बाँसुरी 

न रहेगा बाँस न बजेगी बाँसुरी लोकोक्ति का अर्थ - समस्या को जड़ से समाप्त करना। 

वाक्य में प्रयोग - जिस जमीन को लेकर दोनों परिवार झगड़ रहे थे, सेठ जी ने उसे एक अनाथाश्रम के नाम कर दिया। अब तो झगड़ा खत्म हो ही जाएगा, क्योंकि न रहेगा बाँस न बजेगी बाँसुरी। 

14. रस्सी जल गई, मगर ऐंठन न गई 

रस्सी जल गई, मगर ऐंठन न गई लोकोक्ति का अर्थ - कुछ भी न बचा, मगर अकड़ अब भी वही। 

वाक्य में सारी सम्पत्ति की नीलामी तक हो गई, मगर अब भी अकड़ इतनी है कि अपने आगे किसी को कुछ समझता ही नहीं। इसे कहते हैं - रस्सी जल गई, मगर ऐंठन न गई। 

15. सीधी उँगली से घी नहीं निकलता 

सीधी उंगली से घी नहीं निकलता लोकोक्ती का अर्थ - ज्यादा सीधापन भी किसी काम का नही होता। 

वाक्य में प्रयोग - व्यापार में सफलता के लिए चालाकी तथा चौकसी दोनों ही कलाये सीखनी होगी। यहाँ सीधी उँगली से घी नहीं निकलता। 

16. अंत भले का भला 

अंत भले का भला का अर्थ - अच्छे काम का परिणाम अच्छा होना। 

वाक्य में प्रयोग - तुम चाहे जो कहो मैं तो मानता हूँ - अंत भले का भला। 

17. दूध का जला छाछ भी फूँक-फूँककर पीता है 

 दूध का जला छाछ भी फूँक-फूँककर पीता है लोकोक्ति का अर्थ - एक बार हानि उठाने के बाद सावधान रहना। 

वाक्य में प्रयोग - विवेक ने जीवन में बहुत हानि उठाई है, पर अब वह बहुत सावधान हो गया है। सत्य है - दूध का जला छाछ भी फूँक-फूँककर पीता है। 

18. हींग लगे न फिटकरी रंग चोखा 

हींग लगे न फिटकरी रंग चोखा लोकोक्ति का अर्थ - बिना किसी खर्च के श्रेष्ठ काम होना।

वाक्य में प्रयोग - वर्मा जी के तो भाग्य ही खुल गए। लड़के वाले उनकी बेटी को देखने आए और अँगूठी पहनाकर साथ ही ले गए। इसे कहते हैं - हींग लगे न फिटकरी रंग चोखा। 

19. मान न मान मैं तेरा मेहमान 

मान न मान मैं तेरा मेहमान लोकोक्ति का अर्थ - जबरदस्ती गले पड़ना। 

वाक्य में प्रयोग - मैंने तुम्हें यहां आने के लिए कब कहा था? बस, मान न मान मैं तेरा मेहमान वाली बात मत करो। 

20. बोया पेड़ बबूल का आम कहाँ से होय 

बोया पेड़ बबूल का आम कहाँ से होय लोकोक्ति का अर्थ - गलत कार्य करने से कोई लाभ नहीं होता। 

वाक्य में प्रयोग - तुम सारा दिन तो खाली बैठे रहे और अब चाहते हो तुम्हें सौ रूपये दे दूँ। यह कैसे हो सकता है बोया पेड़ बबूल का आम कहाँ से होय। 

मुहावरे और लोकोक्ति में अंतर

महावरे वाक्य का एक अंश होता है। लोकोक्तियाँ पूर्ण वाक्य होती है। मुहावरे का अर्थ वाक्य में प्रयुक्त होने पर ही स्पष्ट होता है। वाक्य से लगत रहकर भी लोकोक्तियों से वाक्य स्पष्ट हो जाता है। मुहावरे वाक्य में प्रयुक्त होते समय लिंग, वचन, कारक के अनुरूप बदल जाते हैं। लोकोक्तियाँ वाक्य में प्रयुक्त होने के बाद भी अपने मौलिक स्वरूप में बनी रहती हैं। 

महत्वपूर्ण बिंदु 

वे शब्द-समूह या पद जो सामान्य अर्थ न देकर विशेष अर्थ व्यक्त करते हैं, वे मुहावरे कहलाते हैं। 
लोक+उक्ति अर्थात लोक में प्रचलित उक्ति। वह कथन जो लोगों में प्रचलित होता है, लोकोक्ति कहलाता है। 

मुहावरे और लोकोक्तियाँ प्रश्न उत्तर 

(क) 'दिन दूनी रात चौगुनी' उन्नति करना। 

उत्तर - लगातार तरक्की करना। 

(ख) 'सीधी ऊँगली से घी नहीं निकलता।'

उत्तर - ज्यादा सीधापन भी किसी काम का नहीं होता। 

1. निम्नलिखित प्रश्नो के उत्तर लिखिए -

(क) मुहावरे किसे कहते हैं?

उत्तर - मुहावरे एक प्रकार के वाक्यांश हैं। इनका सामान्य अर्थ नहीं होता बल्कि ये विशेष अर्थ का बोध कराते हैं। 

(ख) लोकोक्तियाँ किसे कहते हैं? उदाहरण सहित स्पष्ट करो। 

उत्तर - लोक+उक्ति अर्थात लोक में प्रचलित होता है, वह लोकोक्ति कहलाता है। 

उदाहरण - गेंहूं के साथ घुन भी पिसता है। 

(ग) मुहावरे और लोकोक्ति में उदाहरण सहित अंतर स्पष्ट करो। 

उत्तर - मुहावरे - मुहावरे किसी भी वाक्य के एक अंश होते हैं, मतलब की एक हिस्सा होता है, पार्ट होता है। इसका कोई सामान्य अर्थ नही है बल्कि ये विशेष अर्थ का बोध कराते हैं। 

ईद का चाँद होना - कभी-कभी दिखाई देना।

लोकोक्ति - लोक+उक्ति अर्थात लोक में प्रचलित होता है, वह लोकोक्ति कहलाता है। 

आओ, लोकोक्तियों के कुछ अन्य उदाहरण देखें -

1. आम के आम गुठलियों के दाम। 

2. बॉक्स में दिए गए मुहावरे से रिक्त स्थान भरिए -

आग-बबूला, चैन की बंसी बजाना, एड़ी-चोटी का जोर लगाना, डंके की चोट पर, अपनी ढपली अपना राग 

(क) अब...चैन की बंसी बजाना...मोहनलाल, बेटी का व्याह तो हो गया। 

(ख) मैं किसी से नहीं डरता, मैं तो जो कहूँगा...डंके की चोट पर...कहूँगा। 

(ग) मुख्यमंत्रियों की बैठक में कोई निर्णंय ने हो सका क्योकि सभी...अपनी ढपली अपना राग...अलपाते रहे। 

(घ) रोहन की गलतियों को देखकर माँ...आग-बबूला...हो गई। 

(ङ) भारत यदि आस्ट्रेलिया के विरुद्ध टैस्ट जितना चाहता है, तो उसे...एड़ी चोटी का जोर लगाना...होगा। 

3. सहीं मिलान कीजिए -

मुहावरे अर्थ
दाँत खट्टे करना बुरी सलाह देना
नाक कटना बुरी तरह पराजित करना
नाच नचाना अपमानित होना
पट्टी पढ़ाना बारीकी निकालना
बाल की खाल उतारना मनमानी करवाना

सही जोड़ी इस प्रकार है -
मुहावरे अर्थ
दांत खट्टे करना बुरी तरह पराजित करना।
नाक कटना अपमानित होना
नाच नचाना मनमानी करवाना
पट्टी पढ़ाना बुरी सलाह देना
बाल की खाल उतारना बारीकी निकालना

4. निम्नलिखित मुहावरों, लोकोक्तियों के अर्थ लिखिए -

अधजल गगरी छलकत जाए 

अर्थ - जिसमें ज्ञान कम होता है वह दिखावा अधिक करता है। 

जले पर नमक छिड़कना 

अर्थ - दुःखी को और दुःखी करना। 

3. न रहेगा बाँस न बजेगी बाँसुरी 

अर्थ - किसी कार्य के कारण को ही समाप्त कर देना। 

4. सीधी उँगली से घी नहीं निकलता 

अर्थ - ज्यादा सीधापन भी किसी काम नहीं होता। 

5. दिए गए अर्थों के आगे सही लोकोक्ति लिखिए-

1. जैसी करनी वैसी भरनी 

अर्थ - कर्मों का फल भोगना ही पड़ता है। 

2. रस्सी जल गई, मगर ऐंठन न गई 

अर्थ - बार-बार हानी होने पर भी सदबुद्धि का न आना। 

3. आम के आम गुठलियों के दाम 

अर्थ - दोहरा लाभ होना। 

4. हींग लगे न फिटकरी रंग चोखा 

अर्थ - बिना किसी खर्च के श्रेष्ठ काम होना।

<<Previous post: 19. विराम चिन्ह (Punctuation marks)

Next post: 21. अनुच्छेद लेखन (Paragraph Writing)>>


Related Post

भाषा किसे कहते हैं

उर्दू भाषा की लिपि क्या है

Related Posts
Subscribe Our Newsletter