लोकतंत्र का क्या अर्थ है - loktantra kya hai

लोकतंत्र का अर्थ है - लोगों द्वारा शासन करना। यह नाम सरकार के विभिन्न रूपों के लिए उपयोग किया जाता है, जहां लोग अपने समुदाय को चलाने के तरीके को प्रभावित करने वाले निर्णयों में सहयोग करते हैं। आधुनिक समय में, इसके अलग-अलग तरीके हो सकते हैं। 

लोकतंत्र का क्या अर्थ है - loktantra kya hai लोकतंत्र की परिभाषा लोकतंत्र की विशेषताएं क्या है लोकतंत्र के कितने प्रकार होते हैं

लोकतंत्र की परिभाषा

सरकार का एक रूप जिसमें लोगों में सर्वोच्च शक्ति निहित होती है और जनता द्वारा एक स्वतंत्र चुनाव प्रणाली के तहत सीधे मत दिए जाते है। और सरकार बनायीं जाती है। संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत लोकतांत्रिक देश हैं।

लोकतंत्र की विशेषताएं क्या है 

अमेरिकी राजनीतिक वैज्ञानिक लैरी डायमंड के अनुसार, लोकतंत्र में चार प्रमुख विशेषता होती हैं 1. स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के माध्यम से सरकार को चुनना 2. राजनीति में नागरिकों के रूप में लोगों की सक्रिय भागीदारी 3.सभी नागरिकों के मानवाधिकारों की सुरक्षा और कानून का एक नियम, जिसमें सभी नागरिकों पर समान कानून सामान रूप से लागू होती है।

लोकतंत्र के कितने प्रकार होते हैं

सामान्यत: लोकतंत्र-शासन-व्यवस्था दो प्रकार की होती है। 

  1. प्रत्यक्ष लोकतंत्र तथा
  2. अप्रत्यक्ष लोकतंत्र या प्रतिनिधि सत्तात्मक

लोकतंत्र क्यों जरूरी है 

अभिव्यक्ति की आजादी के लिए लोकतंत्र बहुत जरुरी होता है। इसमें लोगो को  राजनीतिक अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता, बोलने की स्वतंत्रता, प्रेस की स्वतंत्रता और इंटरनेट चलने की स्वतंत्रता मिलती है। इस तरह के प्रणाली में सरकार की मनमानी में रोक लगता है और जनता को कई प्रकार की स्वतंत्रता मिलती है। इसमें मतदाताओं को अच्छी तरह से सूचित किया जाता है, जिससे वे अपने स्वयं के हितों के अनुसार मतदान कर सकें।

लोकतंत्र का महत्व 

लोकतंत्र सभी नागरिकों को कुछ बुनियादी अधिकार प्रदान करता है जिसके माध्यम से वे अपनी राय दे सकते हैं। लोकतंत्र सभी नागरिकों को अपने प्रतिनिधियों को चुनने और उन्हें बदलने का मौका प्रदान करता है। 

Related Posts

Subscribe Our Newsletter