वचन किसे कहते हैं - hindi grammar

vachan in hindi

आपका फिर से स्वागत है हमारे ब्लॉग में इससे पहले हमने आपके साथ शेयर किया था हिंदी ग्रामर से ही जुड़ा टॉपिक लिंग  अंग्रेजी में Gender के नाम से जाना जाता है। 

आज हम फिर से बात करने वाले हैं हिंदी ग्रामर के ही एक नये टॉपिक वचन क्या है के बारे में जिसमें हम जानेंगे नंबर वचन की परिभाषा, वचन क्या है? वचन का उपयोग हिंदी में  क्या है? साथ ही वचन कितना महत्व रखता है हिंदी ग्रामर में उसके बारे में, साथ ही वचन या Numer के भेद कितने प्रकार के होते हैं?, वचन संबंधी विशेष नियम कौन कौन से हैं? इन सभी टॉपिक्स पर आज हम चर्चा करने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं।

वचन क्या है vachan in Hindi


वचन in hindi


वचन हिंदी व्याकरण में किसी भी प्रकार के वस्तु या व्यक्ति के नाम के आगे या पीछे संख्या को बताने के लिए जो संख्या प्रयोग किया जाता है उसे ही वचन कह सकते हैं। 

एक और वचन होता है जिसका हिंदी में अर्थ होता है बोल, वाक्य, वादा आदि। जैसे की उदाहरण के रूप में कहें तो अनमोल वचन एक अलग ही प्रकार की परिभाषा व्यक्त करा है जिसका अर्थ होता है वह दुर्लभ वाक्य जो की किसी महापुरुष के द्वारा बोला जाता है या बोला गया होता है। लेकिन यह हमारे हिंदी व्याकरण में सिर्फ और सिर्फ नंबर या संख्या के रूप में प्रयोग किया जाता है। 

वचन मुख्यतः हमें उस पदार्थ या उस नाम के संख्या या अंग्रेजी में कहें तो उसकी Quantity को बताता है जो की संख्या एक दो या तीन से लेकर अनगिनत हो सकते हैं लेकिन हिंदी में केवल दो ही प्रकार के शब्द वचन के रूप में प्रयोग किया जाता है जैसे की एक और बहु जिसमें एक का मतलब केवल 1 या अकेला होता है और बहु अर्थात बहुत सारा जिसका मतलब एक से अधिक होता है। 

निश्चित संख्या को बताने के लिए हमारे हिंदी भाषा में उपलब्ध गिनती के लिए जो संख्या है उसका प्रयोग किया जाता है। 

वचन की परिभाषा 


संज्ञा या सर्वनाम के जिस रूप से उसके एक या अनेक होने का बोध हो, उसे वचन कहते हैं। आइये कुछ उदाहरण के माध्यम से इसे और अच्छे से समझने का प्रयास करें 

आज हमारे शासकीय महाप्रभु वल्ल्भाचार्य महाविद्यालय महासमुंद में वार्षिकोत्सव मनाया गया। सभी बच्चों ने अलग-अलग प्रतियोगिता में हिस्सा लिया। सभी विद्यार्थी समय पर विद्यालय आए। अंत में प्रधानाचार्य जी ने भाषण दिया और शिक्षकों ने अच्छा पढ़े और आगे बढ़ने की ऐसी प्रेरणा दी की मन खुश हो गया। 

आइये अब समझने की कोशिश करते हैं की आखिर किस प्रकार इसमें वचनों का प्रयोग किया गया है इस पुरे वाक्य में हम देखते हैं की जो शब्द हैं जैसे की सभी बच्चों, सभी विद्यार्थी, शिक्षकों को मुख्य रूप से बहुवचन में या बहुवचन के रूप में गिना जाता है। क्योकि इनकी संख्या एक से अधिक है उसी प्रकार प्रधानाचार्य एक वचन का बोध कराता है अर्थात इसकी संख्या केवल एक है। 

वचन के भेद 

हिंदी भाषा में या हिंदी कहें हिंदी साहित्य में यह दो प्रकार का होता है-
  1. एकवचन 
  2. बहुवचन 
1. एकवचन - संज्ञा या सर्वनाम के जिस रूप से एक वस्तु, व्यक्ति तथा पदार्थ का बोध होता है, उसे एकवचन कहते हैं; जैसे- आँख, घोड़ा, पुस्तक, मेज, सड़क आदि। 

2. बहुवचन - संज्ञा या सर्वनाम के जिस रूप से अधिक वस्तुओं, व्यक्तियों तथा पदार्थों का बोध होता है, उसे बहुवचन कहते हैं; जैसे- आँखें, घोड़े, किताबें, मेजें, सड़कें आदि। 

वचन संबंधी विशेष नियम 


नीचे कुछ वचन संबंधी विशेष नियम दिए जा रहें हैं, इन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें और समझें  किसी व्यक्ति विशेष के प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए सदा बहुवचन का प्रयोग किया जाता है; जैसे- 
सम्राट अशोक मगध के सम्राट थे। 

श्री मति इंदिरा गाँधी भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री थीं। 
बड़े आदमी अपना अधिकार प्रकट करने के लिए बहुवचन का प्रयोग करते हैं; जैसे-
भारत के प्रधानमंत्री ने कहा, "हम आतंकवाद का सफाया करके ही दम लेंगे।"

  • कुछ शब्द सदैव बहुवचन में ही प्रयुक्त होते हैं; जैसे- लोग, बाल, हस्ताक्षर, प्राण, आँसू, प्रजा आदि। 
  1. मेरी दीदी के बाल चमक रहें हैं। 
  2. विज्ञान भवन में लोग एकत्र हो रहे हैं। 
  3. आग में जलकर महिला के प्राण निकल गए। 
  • व्यक्तिवाचक तथा भाववाचक संज्ञाओं का प्रयोग एकवचन में होता है; जैसे-
  1. देव पढ़ रहा है। (व्यक्तिवाचक संज्ञा एकवचन में)
  2. मंदिर की सुंदरता सबका मन आकर्षित कर लेती है। (भाववाचक संज्ञा एकवचन में)
  • कुछ शब्द हमेशा एकवचन के रूप में प्रयुक्त होते हैं; जैसे- आग, वर्षा, सोना, दूध, पानी आदि। 
  1. आज सुबह से वर्षा हो रही है। 
  2. वर्षा का पानी घरों में भर गया है। 
  3. घरों में आग लग चुकी है। 
  4. दूध अब और भी महंगा हो गया है। 

वचन-परिवर्तन के नियम 

आपको इसे कुछ उदाहरण के माध्यम से बताया गया है इसे समझें और बहुत ज्यादा समझें समझ न आये तो कमेंट करें। 
1. 'आ' को 'ए' में बदलना-
  1. कमरा - कमरे 
  2. पत्ता - पत्ते 
  3. घड़ा - घड़े 
  4. कुत्ता - कुत्ते 
  5. तारा - तारे 
  6. हीरा - हीरे 
2. 'अ' को 'एँ' में बदलना-
  1. मेज - मेजें 
  2. सड़क - सड़कें 
  3. गाय - गाएँ 
  4. बहन - बहनें 
  5. पुस्तक - पुस्तकें 
  6. आँख - आँखें 
3. 'आ' को 'आएँ' में बदलना-
  1. सूचना - सूचनाएँ 
  2. दवा - दवाएँ 
  3. पाठशाला - पाठशालाएँ 
  4. महिला - महिलाएँ 
  5. कथा - कथाएँ 
  6. भाषा - भाषाएँ 
4. 'इ' या 'ई' को 'इयाँ' में बदलना-
  1. लड़की - लड़कियाँ 
  2. नदी - नदियाँ 
  3. टोपी - टोपियाँ 
  4. पूड़ी - पूड़ियाँ 
  5. रोटी - रोटियाँ 
  6. सखी - सखियाँ 
5. 'ा' 'ँ' में बदलना-
  1. बुढ़िया - बुढ़ियाँ 
  2. चुहिया - चुहियाँ 
  3.  चिड़िया - चिड़ियाँ 
  4. कुटिया - कुटियाँ 
  5. डिबिया - डिबियाँ 
  6. गुड़िया - गुड़ियाँ 
 6. 'उ', 'ऊ' के साथ 'एँ' जोड़कर-
  1. ऋतु - ऋतुएँ 
  2. वधू - वधूएँ 
  3. वस्तु - वस्तुएँ 
  4. बहू - बहुएँ 
7. जन, वर्ग, गण, वृन्द जोड़कर- 
  1. छात्र - छात्रगण 
  2. अध्यापक - अध्यापक वृन्द 
  3. गुरु - गुरुजन 
  4. मजदूर - मजदूर वर्ग 

  • Conclusion

आओ जाने की हमने क्या सीखा 
  • संज्ञा या सर्वनाम के जिस रूप से उसके एक या अनेक होने का बोध हो, उसे वचन कहते हैं। 
  • वचन के दो भेद होते हैं - 1. एक वचन 2. बहुवचन। 

प्रश्न और उनके उत्तर बाद में जब कमेंट करें 


1. उत्तर संक्षिप्त में लिखें करके ये प्रश्न आ सकते हैं -
  1. बड़े आदमी अपना अधिकार प्रकट करने के लिए कौन-से वचन का प्रयोग करते हैं?
  2. 'पाठशाला' का बहुवचन बताओ। 
  3. 'आँखों' का एकवचन बताओ। 
2. इन प्रश्नों के उत्तर दीजिए 
  1. वचन किसे कहते हैं? उदाहरण सहित स्पष्ट करो। 
  2. वचन के कितने भेद हैं? प्रत्येक के दो-दो उदाहरण दो। 
  3. वचन परिवर्तन के कितने नियम हैं? प्रत्येक के दो-दो उदाहरण लिखो। 
3. रिक्त स्थान को पूरा करो। 

पुस्तकें, लड़के, तितलियाँ, ऋतुएँ, नदियाँ 
  1. गोदावरी की चार सहायक--------हैं। 
  2. भारत में छः---------होती हैं। 
  3. मैदान में---------फुटबॉल खेल रहे हैं। 
  4. फूलों पर---------मंडरा रही हैं। 
  5. एक-एक करके सभी--------मेज पर रखो। 
4. इनमें  से सहीं और गलत कथन पर विचार कीजिए 
  1. संज्ञा या सर्वनाम के जिस रूप से उसके एक या एक से अधिक होने का बोध हो, उसे वचन कहते हैं। 
  2. किसी व्यक्ति विशेष के प्रति आदर प्रकट करने के लिए वचन का एकवचन रूप प्रयोग किया जाता है। 
  3. बाल, हस्ताक्षर, प्रजा आदि शब्द हमेशा एकवचन में प्रयोग किए जाते हैं। 
  4. व्यक्तिवाचक संज्ञा और भाववाचक संज्ञाओं का प्रयोग हमेशा बहुवचन में होता है। 
5. निम्नलिखित शब्दों के बहुवचन रूप कमेंट में लिखिए 
  1. रोटी -     
  2. नदी - 
  3. आँख - 
  4. घोड़ा -
  5. केला -
  6. बुढ़िया -
  7. छाता - 
  8. पत्नी -
  9. सड़क - 
  10. पत्ता -
  11. लड़का -
  12. सूचना -
6. सही विकल्प चुनो और कमेंट में लिखो 

1. संज्ञा या सर्वनाम के जिस रूप से उसके एक या अनेक होने का बोध हो, उसे क्या कहते हैं?
  1. संज्ञा 
  2. वचन 
  3. सर्वनाम 
2. हिंदी भाषा में वचन के कितने भेद होते हैं?
  1. तीन 
  2. दो 
  3. चार 
3. संज्ञा तथा सर्वनाम के जिस रूप से वस्तु, व्यक्ति तथा पदार्थ का बोध होता है, उसे क्या कहते हैं?
  1. बहुवचन 
  2. एकवचन 
  3. उपर्युक्त दोनों 
4. संज्ञा सर्वनाम के जिस रूप से अधिक वस्तुओं, व्यक्तियों तथा पदार्थों का बोध होता है, उसे क्या कहते हैं?
  1. एकवचन 
  2. बहुवचन 
  3. उपर्युक्त दोनों में से कोई नहीं 
vachan  के बारे में जानकार आपको कैसा लगा क्या समझ नही आया कमेंट में जरूर शेयर करें ताकि हमें मोटिवेशन मिल सके और हम आपके लिए अच्छे से अच्छा कॉन्टेंट प्रोवाइड कर सकें। 

Hindi grammar all links is here 

Related Posts

Subscribe Our Newsletter