मशहूर एक्टर जगदीप जाफ़री रोचक तथ्य

जगदीप जाफरी का निधन 

Bollywood के मशहूर Actor जगदीप जाफरी का 81 साल की उम्र में निधन हो गया। सय्यद इश्तियाक़ अहमद जाफ़री  का जन्म 29 मार्च 1939 को हुआ था। और निधन 8 जुलाई 2020 को जगदीप के नाम से मशहूर, हिंदी फिल्म हास्य अभिनेता।

यह जावेद जाफरी के पिता थे। जिन्हें डबल धमाल मूवी में आपने देखा ही होगा। आखरी सांस मुम्बई में ली कई बीमारियों के चलते इनका निधन हुआ। 8 जुलाई 2020 को बुधवार की रात ये पंचतत्व में विलीन हो गए।

1975 में आयी फ़िल्म शोले में इन्हें सुरमा भोपाली का किरदार मिला था जिसने इन्हें खूब प्रसिद्धि दिलाई। पहले तो वे यह किरदार नहीं करना चाहते थे, लेकिन बाद में हाँ कह दिया और इसी किरदार से वे जाने, जाने लगे।

इसके बाद इसी शूरमा भोपाली के नाम से एक फ़िल्म भी बनी जो कि औसत हिट रही। अपनी औसत कॉमेडी के कारण। इन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत बतौर चाइल्ड एक्टिंग मतलब चाइल्ड एक्टर के रूप में किया।

इनको पहली बार इनके एक्टिंग के लिए 3 रुपये का ऑफर दिया गया था, और वे खुशी खुशी मान गए थे सम्मिकपुर से लेकर सलमान खान तक कि बहुत सारी फिल्मों में इन्होंने काम किया। जगदीप जाफ़री ने लगभग 400 से अधिक फिल्मों में काम किया था।

और जगदीप जाफ़री ने की फिल्मों में कॉमेडियन के अलावा मुख्य भूमिका में भी काम किया लेकिन ज्यादा प्रशिद्ध कॉमेडियन के रोल में ही मिला। कॉमिडियन बनने का सफर सम्मिकपुर की फ़िल्म ब्रम्हचारी से शुरू हुआ।जगदीप जाफरी एक संजीदा इंसान थे।

इनका एक गाना आज भी बूढ़ों लोगों और जवानों के मन को भाता है इसके बोल कुछ इस प्रकार थे। चली चली रे पतंग मेरी चली रे। इनका असली नाम जगदीप जाफ़री नही था यह नाम इन्होंने फ़िल्म इंडस्ट्री में आने के बाद रखा था।

जगदीप जाफ़री का असली नाम शैयद इस्तियाक अहमद जाफ़री था । इनके पिता जी के निधन हो जाने के बाद इन्होंने फिल्मों में सिर्फ पैसे के लिए काम करना चाहा लेकिन चहेते सितारे बन गए। मजबूरी ये थी कि पिता जी इन्हें बचपन मे ही छोड़कर दुनिया से जा चुके थे।


www.rexgin.in की तरफ से भावपूर्ण श्रद्धांजलि।

Related Posts

Subscribe Our Newsletter