मिंग राजवंश का इतिहास

मिंग राजवंश का चीन में साम्राज्य था माना जाता है की 1368 से 1848 तक चीन में इनका आधिपत्य था। इनके शासन में संस्कृति राजनैतिक विकाश हुआ। इतिहास करो का मानना है इस चीन में इनके शासन में सबसे ज्यादा मानव जाती का विकास हुआ होगा। मिंग वंश के राजाओ ने विशाल चीन की दिवार बनाना के शुरुआत की ये नहीं चाहते थे की कोई आक्रमण कारी चीन पर आक्रमण करे इसलिए अपने रक्षा के लिए इन्होने अपने सिमा पर दिवार बनवाया।

मिंग राजवंश का इतिहास 

मिंग वंस ने अपने साम्राज्य को बनाये रखने के लिए बहुत प्रयास किया लेकिन कुछ भ्रस्ट राजा और काम अनुभवी राजाओ के कारण इनका कार्य कल समाप्त हो गया।

मिंग राजवंश का इतिहास

मिंग वंश के समय में विदेशो से व्यापर में बढ़ोतरी हुयी साथ ही सास्कृति का भी अदन प्रदान हुआ। इनके समय में कृषि का विकाश हुआ। जिसके कारण लोगो को अपने सस्कृति का विस्तार करने में आसानी हुयी। रेसम और चीनी मिटटी के बर्तन के उधोग में तेजी आयी। लोहा ताम्बा ढलाई और कागज और जहाज का निर्माण भी होने लगा।

 मिंग वंश में चित्रकला 

मिंग वंश के पहले भी चित्रकला प्रचलित था लेकिन इस वंस के शासन में चित्रकला को विकसित होने का अवसान प्रदान हुआ। मांग वंश के चित्रों में अधिक रंगो का इस्तेमाल किया जाने लगा। सुलेख और चित्रकलामे बारीकी से कार्य किया जाने लगा। चित्रकला में नयी नयी शैलिया विकसित होने लगी।  वंश में पेंटिंग की श्रेणियों और विषयों में, पारंपरिक आकृति और फूल द्वीप पेंटिंग लोकप्रिय रहा। चीन की चित्र कला प्राचीन काल से ही समृद्ध रहा है। और चीन की लिपि भी चित्र लिपि है। 

Related Posts

कितनी भी हो मुश्किल थोड़ा भी न घबराना है, जीवन में अपना मार्ग खुद बनाना है।