अटाकामा मरुस्थल - Rexgin

अटाकामा मरुस्थल दक्षिण अमेरिका में एक रेगिस्तानी पठार है जो कि एंडीज पर्वत के पश्चिम में प्रशांत तट पर 1,600 किमी (990 मील) क्षेत्र को कवर करता है। अटाकामा मरुस्थल दुनिया के सबसे शुष्क मरुस्थल क्षेत्र में से एक है। यह ध्रुवीय रेगिस्तानों की तुलना में कम वर्षा प्राप्त करने वाला एकमात्र रेगिस्तान है।

इन क्षेत्रों को मंगल अभियान के लिए पृथ्वी पर प्रयोग स्थलों के रूप में इस्तेमाल किया गया है। अनुमानों के मुताबिक, अटाकामा रेगिस्तान 105,000 किमी पर फैला हुआ है। अधिकांश रेगिस्तान पथरीले इलाके, नमक की झीलों (सैलारों), रेत और फेल्सिक लावा से बना है जो कि एंडीज की ओर बहता है।

शांत उत्तरी-बहने वाले हम्बोल्ट महासागर की धारा के कारण और मजबूत प्रशांत महासागर की उपस्थिति के कारण रेगिस्तानी का तापमान चरम पर है। अटाकामा मरुस्थल का सबसे शुष्क क्षेत्र दो पर्वत श्रृंखलाओं (एंडीज और चिली कोस्ट रेंज) के बीच स्थित है।

अटाकामा मरुस्थल की जलवायु

समुद्र तल से  1,500 मीटर की ऊँचाई में अटाकामा मरुस्थल स्थित है। वर्ष के अधिकांश समय मौसम शुष्क और मध्यम ठंडी राते होते हैं। इस ऊंचाई के ऊपर ठंडा तापमान के साथ अटाकामा बंजर है। वर्षा की कमी अटाकामा रेगिस्तान की सबसे प्रमुख विशेषता है।

अटाकामा मरुस्थल पृथ्वी पर सबसे पुराना मरुस्थल है, और कम से कम 3 मिलियन वर्षों तक तापमान बढ़ता रहा है। जिसके करण यह पृथ्वी का सबसे पुराना शुष्क क्षेत्र बन गया है। बाष्पीकरणीय संरचनाओं की उपस्थिति से पता चलता है कि अटाकामा रेगिस्तान के कुछ हिस्सों में, पिछले 200 मिलियन वर्षों के लिए शुष्क स्थिति बनी हुई है।
अटाकामा मरुस्थल - Rexgin

यह क्षेत्र इस संबंध में पृथ्वी पर अद्वितीय हो सकता है, और भविष्य के मंगल अभियानों के लिए उपकरणों का परीक्षण करने के लिए नासा द्वारा उपयोग किया जा रहा है। टीम ने मंगल जैसे पृथ्वी के वातावरण में वाइकिंग परीक्षणों की नकल की और पाया कि वे अंटार्कटिक सूखी घाटियों, चिली और पेरू के अटाकामा रेगिस्तान और अन्य स्थानों से मिट्टी के नमूनों में जीवन के वर्तमान संकेतों को देख रहे हैं। 

Related Posts

Post a Comment



Subscribe Our Newsletter