भ्रमरगीत सार किसकी रचना है

भ्रमरगीत सार आचार्य रामचन्द्र शुक्ल द्वारा सम्पादित किया गया हैं। यह महाकवि सूरदास के पदों का संग्रह है। उन्होने सूरसागर के भ्रमरगीत से लगभग 400 पदों को छांटकर उनको 'भ्रमरगीत सार' के रूप में प्रकाशित कराया था।

Related Posts

कितनी भी हो मुश्किल थोड़ा भी न घबराना है, जीवन में अपना मार्ग खुद बनाना है।