Wednesday, November 20, 2019

Meghalaya Ki Rajdhani kya hai

क्या आप Meghalaya के बारे में जानते है अगर नहीं जानते तो आप के लिए यह ब्लॉग मेघालय के बारे में जानने में मदद करेगा अगर अप पहले से जानते है तो इस ब्लॉग में ऐसी भी बाते हो सकती है जिसे आप नहीं जानते तो चलिए मेघालय के बारे में जानते है

meghalaya_ki_rajdhani

मेघालय की राजधानी  

मेघालय की स्थापना 21 जनवरी 1972 में हुआ था इसकी राजधानी का नाम शिलांग हैं और सबसे बडा शहर भी शिलांग है यह टोटल 11  जिले है, मेघालय उच्च न्यायालय यहां की सबसे बड़ी न्यायालय है, इसकी क्षेत्रफल • कुल 22429 कि.मी. है क्षेत्रफल के हिसाब से यह इंडिया का 23 राज्य है जनसंख्या घनत्व 140 किमी है। यहां की साक्षरता 75.84% है आधिकारिक भाषा गारो एवं खासी ये 2 भाषाएं है। वेबसाइट meghalaya.gov.in

राज्य के दक्षिणी में बांग्लादेश के भाग से लगता है,  तथा उत्तर एवं पूर्वी ओर  असम राज्य से घिरा हुआ है। meghalaya की राजधानी शिलांग है। भारत में ब्रिटिश काल के समय तत्कालीन ब्रिटिश  अधिकारियों द्वारा इसे " स्काटलैण्ड" का नाम दीया गया था।

मेघालय का विभाजन 

 मेघालय पहले असम राज्य का ही भाग था, 21 जनवरी 1972 को असम के खासी, गारो एवं जैन्तिया पर्वतीय जिलों को काटकर नया राज्य मेघालय बनाया गया।

मेघालय में बोले जाने वाली भाषा 

 इस राज्य की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी है। इसके अलावा यह पर अन्य प्रमुख बोली बोले जाने वाली भाषाओं में खासी, गारो, प्नार, बियाट, हजोंग एवं बांग्ला आदी हैं। इनके अलावा यहां हिन्दी भी कुछ कुछ जगहों पर बोली व समझी जाती है हिन्दी बोलने वाले ज्यादातर शिलांग में मिलते हैं। 

भारत के इस राज्य में सबसे अलग यहां पर मातृवंशीय परंपरा चलती है, जिसमे सबसे छोटी बेटी अपने माता पिता की देखभाल करती है तथा उसे ही उनकी सारी सम्पत्ति मिलती है।

मेघालय की भौगोलीक स्थिति 

यह राज्य भारत का अधिक वर्षा वाला क्षेत्र है, जहां वार्षित औसत वर्षा 470 इंच दर्ज हुई है। meghalaya का 70% से अधिक क्षेत्र वनो से आच्छादित है। मेघालय में उपोष्णकटिबंधीय वन अधिक पाया जाता है, यहां के पर्वतीय वन अन्य निचले क्षेत्रों के उष्णकटिबन्धीय वनों से पृथक होते हैं। ये वन स्तनधारीपशुओ, पक्षियों तथा वृक्षों की जैव विविधता
को काफी प्रभावित होते हैं।

मेघालय में मुख्य रूप से कृषी की जाती है यहां की प्रमुख फ़सल है, चावल, मक्का, केला, पपीता एवं दालचीनी एवं बहुत से मसाले, आदि हैं। मेघालय राज्य भूगर्भ सम्पदाओं की दृष्टि से   अधिक सम्पन्न है लेकिन अभी तक यहां पर कोई उल्लेखनीय उद्योग चालू नहीं हुए हैं। यह  लगभग 1,170 कि॰मी॰ लम्बे राष्ट्रीय राजमार्ग बने हैं। यह बांग्लादेश के साथ व्यापार के लिए एक प्रमुख राज्य है 

2 comments:

Thanks for tip