ads

वचन किसे कहते है - वचन के प्रकार

वचन किसे कहते हैं

वचन किसे कहते है

संज्ञा के जिस रूप से संख्या का बोध होता है उसे हिंदी में वचन कहते हैं अथार्त संज्ञा , सर्वनाम , विशेषण और क्रिया के जिस रूप से संख्या का पता चले वचन हैं।

जैसे 

  1. राम ने दो केले खाए।
  2. कक्षा आठवीं वी में 50 छात्र है।
  3. हमारे इलाके में दो स्कूल है।

वचन के प्रकार 

वचन दो प्रकार के होते है एक वचन और बहुवचन

1 एकवचन - किसी शब्द से एक ही वस्तु का बोध हो, उसे एकवचन कहते हैं। जैसे-लड़का, गाय, सिपाही, बच्चा, कपड़ा, माता, माला, पुस्तक, स्त्री, टोपी बंदर, मोर आदि।

2 बहुवचन -  शब्द में एक से अधिक संख्या का बोध हो उसे बहुवचन कहते हैं। जैसे-लड़के, गायें, कपड़े, टोपियाँ, मालाएँ, माताएँ, पुस्तकें, वधुएँ, गुरुजन, रोटियाँ, स्त्रियाँ, लताएँ, बेटे आदि।

बहुवचन बनाने के लिए नियम 

आकारांत पुलिंग शब्दों के अंत में  ए लगाए जाते हैं। जैसे : लड़का - लड़के, घोड़ा-घोड़े, बेटा - बेटे।

अकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों में एँ का प्रयोग किया हैं। जैसे : बात - बातें, आँख - आंखें, पुस्तक - पुस्तकें।

इकारान्त स्त्रीलिंग शब्दों में या लगा देते हैं। जैसे : जाति - जातियाँ, नदी - नदियाँ, लड़की - लड़कियाँ।

स्त्रीलिंग में अंतिम उ, ऊ में ए जोड़कर दीर्घ ऊ का हस्व हो जाता है। जैसे : वस्तु - वस्तुएँ, बहु - बहुएँ। 

कुछ शब्दों में गण, जन आदि शब्द लगाकर बहुवचन बनाया जाता है। जैसे : नेता - नेतागण, सुधी - सुधिजन।

नोट - कुछ शब्द दोनों वचनों में एक जैसे होते हैं। जैसे - क्षमा, जल, प्रेम, गिरि, पिता, चाचा, मित्र, फल, बाजार, फूल, दादा, राजा, विद्यार्थी आदि।

बहुवचन शब्द - 

एकवचन  बहुवचन 
बहन  बहनें
सड़क  सड़के
गाय  गायें
बात  बातें
कौआ  कौए
गधा  गधे
केला  केले
बेटा  बेटे
कविता  कविताएँ
लता  लताएँ
कली  कलियाँ
नीति  नीतियाँ
कॉपी  कॉपियाँ
लड़की  लड़कियाँ
थाली  थालियाँ
नारी  नारियाँ
गौ  गौएँ
बहू  बहूएँ
वधू  वधुएँ
वस्तु  वस्तुएँ
धातु  धातुएँ
मित्र  मित्रवर्ग
विद्यार्थी  विद्यार्थीगण
सेना  सेनादल
गुरु  गुरुजन
श्रोता  श्रोताजन
पत्ता  पत्ते
बेटा  बेटे
लड़का  लड़के

वचन के बारे में अधिक जानकारी के लिए इस पोस्ट को पढ़े वचन इन हिंदी

Related Posts Related Posts
Subscribe Our Newsletter