sarvanam ki paribhasha, सर्वनाम प्रकार तथा भेद - Hindi Grammar

हैलो फ्रेंड्स आज मै सर्वनाम  के बारे में जानकारी  दे रहा हूं। सर्वनाम क्या है, sarvanam ki paribhasha और उदाहरण आदि। संज्ञा के बदले में यूज़ करने वाले शब्द को सर्वनाम कहा जाता है। 

 सर्वनाम के 6 प्रकार होते है 

1.     पुरूषवाचकमैं, तू, वह, हम, मैंने
2.     निजवाचकआप
3.     निश्चयवाचक - 'यह, वह
4.     अनिश्चयवाचककोई, कुछ
5.     संबंधवाचकजो, सो
6.     प्रश्नवाचककौन, क्या 

sarvnam ki paribhasha - सर्वनाम का परिभाषा

सर्वनाम के परिभाषा 

अब हम पहला प्रश्न देखते है कि सर्वनाम क्या है  इसकी परिभाषा क्या हैसर्वनाम English में इसे pronoun कहते है। संज्ञा के स्थान पर उपयोग किया जाने वाला शब्द है। जो कोई भी व्यक्ति या  वस्तु के लिए  use में  किया जाता है। 

सर्वनाम के उदाहरण है 

मैं , मेरा, इसका, उसकी , हम ,हमारा, खुद , वह , उसका और स्वयं शामिल हैं। उदाहरण के लिए रमेश एक लड़का है। इसे हम सर्वनाम में बनाए तो वह एक लड़का है होगा। रमेश के बदले वह use किया गया है।

1. पुरूष वाचक सर्वनाम

बोलने वाले या सुनने वाले तथा किसी अन्य पुरुष के लिए प्रायोग होता है, उसे पुरूषवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- मैं, तूम, वहयह आदि। 


पुरूषवाचक सर्वनाम के तीन भेद हैं

(). उत्तम पुरूष- प्रवक्त  या लेखक जो भी word अपने लिए प्रयोग करता है उसे h उत्तम पुरूष कहते हैं। जैसे- मैं लिखता हूँ। हम लिखते हैं। इस सेन्टेंस में मैं और हम  उत्तम पुरूष सर्वनाम pronoun होगा। 

(). मध्यम पुरूष-सुनने वाला के लिए मध्यम पुरूष का प्रयोग किया जाता है। जैसे की- तुम जाओ। आप जाइये। इन सभी वाक्यों में तुम और आप मध्यम पुरूष होता हैं। 

(). अन्य पुरूष- प्रवक्ता    लेखक (writer) द्वारा श्रोता के अतिरिक्त किसी दुसरे  (तीसरे) के लिए अन्य पुरूष का प्रयोग होता है।  जैसे- वह पढ़ता है। वे पढ़ते हैं।  इन वाक्यों में वह और वे शब्द अन्य पुरूष हैं।


2. निज वाचक सर्वनाम 

जो सर्वनाम तीनों पुरूषों (उत्तम, मध्यम और अन्य) में निजत्व का बोध कराता है, उसे निजवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- मैं खुद लिख लूँगा। तुम अपने आप चले जाना। वह स्वयं गाडी चला सकती है। उपर्युक्त वाक्यों में खुद, अपने आप और स्वयं शब्द निजवाचक सर्वनाम हैं।

3. निश्चय वाचक सर्वनाम 

जो सर्वनाम निकट या दूर की किसी वस्तु की ओर संकेत करे, उसे निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- यह लड़की है। वह पुस्तक है। ये हिरन हैं। वे बाहर गए हैं। इन वाक्यों में यह, वह, ये और वे शब्द निश्चयवाचक सर्वनाम हैं।


·         शशांक मेरा भाई है वह मुम्बई में रहता है.(पुरूष वाचक सर्वनाम )
·         यह किताब मेरी है वह तुम्म्हारी है. (निश्चय )

4. अनिश्चयवाचक सर्वनाम 

नाम से किसी निश्चित व्यक्ति या पदार्थ का बोध नहीं होता, उसे अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- बाहर कोई है। मुझे कुछ नहीं मिला। इन वाक्यों में कोई और कुछ शब्द अनिश्चयवाचक सर्वनाम हैं। कोई शब्द का प्रयोग किसी अनिश्चित व्यक्ति के लिए और कुछ शब्द का प्रयोग किसी अनिश्चित पदार्थ के लिए प्रयुक्त होता है।

5. संबंधवाचक सर्वनाम 

जो सर्वनाम किसी दूसरी संज्ञा या सर्वनाम से संबंध दिखाने के लिए प्रयुक्त हो, उसे संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- जो करेगा सो भरेगा। इस वाक्य में जो शब्द संबंधवाचक सर्वनाम है और सो शब्द नित्य संबंधी सर्वनाम है। अधिकतर सो लिए वह सर्वनाम का प्रयोग होता है।

6. प्रश्नवाचक सर्वनाम 

जिस सर्वनाम से किसी प्रश्न का बोध होता है उसे प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- तुम कौन हो ? तुम्हें क्या चाहिए ? इन वाक्यों में कौन और क्या शब्द प्रश्रवाचक सर्वनाम हैं। कौन शब्द का प्रयोग प्राणियों के लिए और क्या का प्रयोग जड़ पदार्थों के लिए होता है।

  

Related Post

विशेषण के अर्थ क्या है भेद और प्रकार 

दोहा किसे कहते हैं 

रस के कितने प्रकार होते है  

हिंदी साहित्य एक शब्द में उत्तर दीजिए

छंद की परिभाषा क्या है 

 sangya ki paribhasha,

सर्वनाम की प्ररिभाषा 

काल (tense) किसे कहते है

vachan kise kahate hain 

पत्र लेखन क्या है 

पत्र लेखन क्या है 

समास किसे कहते है

 पर्यावरण पर निबंध

Related Posts

Subscribe Our Newsletter