साथियों आप सभी का स्वागत है मेरे इस ब्लॉग कल हमने जाना परीक्षा में पूछने लायक  छत्तीसगढ़ी व्याकरण से सम्बंधित प्रश्न उत्तर के बारे में आज हम जानने वाले हैं। छत्तीसगढ़ी के कवि और रचनाओं के बारे में चलिए शुरु करता हूँ-
नरसिंह दास वैष्णव - शिवायन ( 1904 )
पं. सुंदरलाल शर्मा  -   दानलीला ( 1942 )

C.G. का प्रथम प्रबन्ध काव्य या खण्ड काव्य

दुलरवा ( छत्तीसगढ़ी पत्रिका )
प्यारेलाल गुप्त  -   गांव मां फूल घलो गोठीयाथे
धान लुआई, प्राचीन छ.ग.
लोचन प्रसाद पाण्डेय  -  भुतहा मण्डल , कृषक बाल सखा।
हरी ठाकुर -  ' छत्तीसगढ़ी गीत अउ कविता ' ( हरी नारायणसिंह )
कुंजबीहारी चौबे  -    बीयासी गीत और बियासी के नगर
अंग्रेज तें हमला बनाये कंगला।
गयाराम साहू  -  जागीस छत्तीसगढ़ के माटी , रखिया
द्वारिका प्रसाद तिवारी ' विप्र ' - कुछु काहीं, धमनीहाट, सुराजगीत,फागुन गीत, गांधी गीत , राम अउ केंवट संवाद
शुकलाल प्रसाद पाण्डेय - छत्तीसगढ़ी ग्रामगीत , गीयों  ( बाल साहित्य ) , पुरुझरू ( शेक्सपीयर के कॉमेडी ऑफ एरर्स का छत्तीसगढ़ी अनुवाद )
कपिलनाथ मिश्र - खुसरा चिरई के बिहाव
दानेश्वर शर्मा - छत्तीसगढ़ के लोक गीत , बेटी के विदा
भगवती सेन  -  नदिया मरे पियास
नारायणलाल परमार - सूरज नई मरै, कांवर भर धूप
रामेश्वर वैष्णव - नोंनी बेंदरी
अखेल चन्द क्लांत  -  नवा सूरज के नवा अंजोर
लखनलाल गुप्ता  -  सनझौती के बेरा
हेमनाथ यदु  -  छत्तीसगढ़ी रामायेन
लक्ष्मण मस्तुरिया - सोनाखान के आगी
कपिलनाथ कश्यप - रामकथा
विमल पाठक - गंवई के गीत
निरंजन लाल गुप्ता - किसान के करलाई
पं. शेषनाथ शर्मा ' शील ' - तिरिया के जात

छत्तीसगढ़ी खण्ड काव्य -

पं. सुंदरलाल शर्मा - छत्तीसगढ़ी दानलीला
गोविंदराव विट्ठल - नागलीला।
कुंवर दलपत सिंह - रामयश मनोरंजन
गया प्रसाद बसेरीया - महादेव के बिहाव
बुलनदास कुर्रे - महाभारत चक्रव्यूह
मदनलाल चतुर्वेदी - राम बनवास
कपिलनाथ कश्यप - सीता की अग्नि परीक्षा, हीरा कुमार।
डॉ. विनय कुमार पाठक - सीता के दु:ख
मनिलाल कटकवार - लीलागर।
आपको ये जानकारी कैसे लगी मेरे साथ शेयर करें। और अगर आपको किसी और टॉपिक पर जानकारी चाहिए तो आप मुझे कमेंट के माध्यम से मेरे साथ शेयर करें।
छत्तीसगढ़ी भाषा का उद्भव एवं विकास
छत्तीसगढ़ी बोल्लीयों का विकास
छत्तीसगढ़ी भाषा साहित्य का इतिहास

धन्यवाद!