Ads 720 x 90

25 दिसंबर को क्रिसमस के अलावा क्या मनाया जाता है

Santa clos image
क्रिसमस डे

साथियों आप सभी का स्वागत है मेरे इस ब्लॉग पर आज मैं जिस टॉपिक पर बात कर रहा हूँ वो एक त्यौहार के रूप में मनाया जाता है। हर सालहमारे देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में 25 दिसम्बर को क्रिसमस डे मनाया जाता है। आज के दिन क्रिसमस क्यों मनाया जाता है और क्रिसमस के अलावा आज क्या क्या खास है इस पर भी चर्चा करेंगे।

क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता है

आप ईसाई धर्म के बारे में तो जानते ही होंगे की उनके लिए प्रभु यीशु कितना महत्व रखते है। यीशु नेकई ऐसे शिक्षाप्रद बाते अपने जीवन में कहीं थी। जो की लोगो को उनके प्रति इतना आकर्षित करती है। तो उन्ही के जन्म दिन के रूप में इस दिन को मनाया जाता है। इसके पीछे एक कहानी है जिसे मैं आपके साथ शेयर करना चाहता था लेकिन आजकल ज्यादा समय किसी के पास नहीं होता है।

इसलिए ये दिन क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है। दोस्तो जीजस ने अपने धर्म वालो के लिए बहुत बड़ा योगदान दिया जो की अतुलनीय है। उनकी याद में ही ये दिन क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है और लोग जिजस के सामने अपने किये गलती का क्षमा मांगते हैं।

क्रिसमस के दिन को खास बनाता है उस दिन का गिफ्ट जो की सेंटा द्वारा दिया जाता है बच्चों को। क्रिसमस के दिन क्रिसमस Tree बनाया जाता है जो की स्पेशल होता है। भगवान के पुत्र जिजस भगवान यीशु ( जीजस क्रिस्ट ) को माना जाता है। यह क्रिसमस का सेलिब्रेसन 12 दिन तक चलता है। और यह 24 दिसम्बर की मध्यरात्रि से प्रारम्भ हो जाता है।

इसके अलावा और भी अन्य जानकारियां चाहिए तो आप न्यूज चैनल में सर्च कर सकते हैं। वैसे इस दिन भगवान के बर्थ डे कोई जिक्र नहीं है लेकिन फिर भी ये मनाया जाता है। सम्राट के द्वारा मनाये जाने पर।

सबसे बड़ा दिन कब आता है

साथियों आपको ये तो पता ही होगा की साल का सबसे बड़ा दिन यानी की ये दिन 12 घण्टे का नही होता बल्कि उससे बड़ा होता है इसलिए इसे साल के सबसे बड़े दिन के रूप में भी मनाया जाता है। यह साल होता है यह सामान्य ज्ञान जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं में भी पूछा जा सकता है। इसलिए आप इसे याद रखें और यह कोई त्यौहार नहीं है। इसी दिन को बड़ा दिन के रूप में मनाया जाता है।

मदन मोहन मालवीय जयंती कब है

25 दिसम्बर सन 1861 को ही मदन मोहन मालवीय का जन्म हुआ था इस कारण यह दिन उनके जन्म दिन के रूप में भी मनाया जाता है। मदन मोहन मालवीय को ही काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के प्रणेता कहे जाते हैं। शिक्षा को ये बहुत महत्व देते थे और इन्हें महामना की उपाधी से सम्मानित भी किया गया। और भी बहुत सारे पुरस्कार इनके नाम हैं। इन्होंने अपना देहत्याग 1946 को किया।

नौशाद अली जी का जन्म

इन्हें कौन नहीं जानता हिन्दी सिनेमा के जाने माने कलाकार हैं जो की संगीत में अपना कला दिखाकर संगीतकार रह चुके हैं। इनका जन्म 25 दिसम्बर, 1919 को हुआ था। उन्होंने केवल 67 फिल्मों में अपना योगदान दिया या संगीत दिया था फिर भी वे आज भी याद किये जाते हैं। ये सब उनके Music का जादू है।

अटल बिहारी जी का जन्मदिन

आप तो इन्हें अच्छी तरह से जानते ही होंगे क्योकि ये भारत के दशवें प्रधानमन्त्री थे। जिनका निधन अभी हाल ही में 16 अगस्त 2018 को हुआ था। इनका जन्म 25 दिसम्बर को उन्नीस सौ चौबीस में हुआ था। ये एक पत्रकार, प्रखर वक्ता, कवि और भारतीय जनसंघ के संस्थापकों में से एक थे।

राजू श्रीवास्तव का जन्म दिन

भारत के जाने माने हास्य राजू श्रीवास्तव का जन्म 25 दिसम्बर उन्नीस सौ 63 को हुआ। ये भारत के प्रसिद्ध हास्य कलाकार होने के साथ साथ ये अपना व्यंग हमारे जीवनकी रोजमर्रा पर ये बहुत ही बढ़िया व्यंग करते हैं। आई थिंक इसे आपने कई लाफ्टर सो में भी देखा होगा।

Related Posts
Subscribe Our Newsletter