Why did you choose diesel mechanic? in hindi

साथियोँ आप सभी का मैं फिर से एक बार स्वागत करता हूँ आज मैं ये पोस्ट उन लोगों के लिए लिख रहा हूँ जो की डीजल मैकेनिक कोर्स के बारे में जानना चाहते हैं और इसे करना चाहते हैं। दोस्त ये कोर्स आपको करना चाहिए या फिर नहीं इसके बारे में मैंने यहां पर बताया है तथा यहां पर मैंने अपने खुद के experience को share किया है जी हां मैंने खुद ये कोर्स किया है तो उसी का experience आपके साथ यहां पर मैं share करता हूँ, आपका ज्यादा समय ना लेते हुए मैं आपको इसके बारे में थोड़ी सी जानकारी दे देता हूँ।
Why did you choose diesel mechanic? in hindi
Working Man


डीजल मैकेनिक का कोर्स क्या है?

दोस्त आपको बता दूँ की ये भारत सरकार के द्वारा जो ITI चलाया जाता है उसी के अंतर्गत आने वाला एक कोर्स है ।
इस कोर्स को विभिन्न ये कोर्स दो भागों मे विभक्त है जिसमे से एक SCVT कोर्स है और दूसरा NCVT का कोर्स है । आपको इससे दो तरह के सर्टिफिकेट दिए जाते हैं । NCVT AND SCVT के। जो SCVT है वो राज्य सरकार के द्वारा निर्देशित होता है यानी की इससे प्राप्त certificate का उतना ज्यादा वैल्यू नहीं दिया जाता है।
और NCVT केंद्र सरकार के द्वारा चलाया जाता है जिसका सर्टिफिकेट सभी जगह पर मान्य होता है ।


इस कोर्स को क्यों करना चाहिये ?

इस कोर्स को करने के बहुत सारे फायदे हैं जिससे आप को कोई ना कोई सरकारी या Private jobe तो अवश्य मिल जाती है अगर आप कोसिस करते हैं । साथियों आप चाहे जितना भी पढ लें लेकिन सरकारी jobe पाना आज के तारीख पर बहुत मुश्किल हो गया है।


लेकिन अभी इस वर्ष 2018 में बहुत से पोस्ट रेलवे से खुले थे जिसमें बहुत सारे ऐसे पोस्ट थे जिनमें लोको पाइलेट के पोस्ट थे।


आपको इस कोर्स को कर लेने के बाद यदि आप इसी फील्ड में जाना चाहते है तो आपको अप्रेंटिस का कोर्स कर लेना चाहिए जिससे आपको फायदा ये होगा की आप इस कोर्स के द्वारा यदि मैनेजर के पोस्ट तक जा सकते हैं । काम करते करते । किसी भी private कम्पनी में।

इस कोर्स को करने के बाद क्या करें ?

साथियों कोई भी कोर्स हो वो अच्छा या बुरा नहीं होता है। सभी कोर्स अपने जगह पर अच्छे हैं ।आप इस कोर्स को करने के बाद रेलवे के लिए apply कर सकते है या किसी भी और आप इस कोर्स को करने के बाद private jobe भी कर सकते है। आप जो भी करोगे ये आपके ऊपर डिपेंड करता है ।

आप रेलवे में जॉब कर सकते हैं। या फिर अपने खुद के लिए वर्कशॉप खोल सकते हैं , लेकिन एक बात कहूँ तो इसमें कोई शनशय नही है की कोई भी काम हो आप अगर दिल से करते हैं तो ही सफलता मिलती है।
कोई भी संस्था हो आपको अच्छे से कार्य नहीं सिखाता है आपको खुद सीखना पड़ता है हमारे देश की शिक्षा व्यवस्था से आप भलि भाति वाकिफ हैं ।


तो दोस्त आपको मेहनत करना है और फिर उसके बाद जॉब करना है  । अगर आप पहले से ही जॉब के बारे में सोचेंगे तो वो ऐसी बात हो जायेगी की मेहनत से पहले फल की इच्छा करना।
इस कोर्स को करने के बाद private जॉब में ज्यादा अवसर होते हैं ।

सारांश ( conclusion ) :-

आपको जो करना है, वो सोच समझ के करें ताकि आपको बाद में पछताना ना पड़े।
धन्यवाद ।

Related Posts

Subscribe Our Newsletter