अम्ल किसे कहते हैं

हम अपने दैनिक जीवन में अनेक यौगिकों का प्रयोग करते हैं जिन्हें वैज्ञानिक अम्ल कहते हैं। नाश्ते के लिए आप जो संतरे या अंगूर का रस पीते हैं उसमें साइट्रिक एसिड (जिसे विटामिन सी भी कहा जाता है) होता है। जब दूध खट्टा हो जाता है तो उसमें लैक्टिक एसिड होता है। सलाद ड्रेसिंग में इस्तेमाल होने वाले सिरके में एसिटिक एसिड होता है। इसके अनुसार, एक रासायनिक बंधन को एसिड-बेस संयोजन से बना माना जाता है। इसलिए अणु के गुणों को अम्ल और क्षार के टुकड़ों में विभाजित करके समझा जा सकता है।

एसिड कोई भी हाइड्रोजन युक्त पदार्थ होता है जो किसी अन्य पदार्थ को प्रोटॉन (हाइड्रोजन आयन) दान करने में सक्षम होता है। एक क्षार एक अणु या आयन है जो एक एसिड से हाइड्रोजन आयन को स्वीकार करने में सक्षम है।

अम्लीय पदार्थ आमतौर पर उनके खट्टे स्वाद से पहचाने जाते हैं। एसिड मूल रूप से एक अणु होता है जो H+ आयन दान कर सकता है और H+ की हानि के बाद ऊर्जावान रूप से अनुकूल रह सकता है। अम्लों को नीले लिटमस को लाल करने के लिए जाना जाता है।

दूसरी ओर, क्षारों में कड़वा स्वाद और फिसलन वाली बनावट होती है। वह क्षार जिसे जल में घोला जा सकता है, क्षार कहलाता है। जब ये पदार्थ एसिड के साथ रासायनिक रूप से प्रतिक्रिया करते हैं, तो वे लवण उत्पन्न करते हैं। क्षारों को लाल लिटमस को नीला करने के लिए जाना जाता है।

Related Posts

कितनी भी हो मुश्किल थोड़ा भी न घबराना है, जीवन में अपना मार्ग खुद बनाना है।