Friday, October 26, 2018

सिंघनपुर की गुफा एवं शैल चित्र ( cave's of singhnpur and shail drawings in hindi )

SHIGHNPUR KI GUFA EWAM SAIL CHITR 
सिंघनपुर गुफा के चित्रों की चित्रकारी गहरे लाल रंग से हुई है I एक रेलवे इंजीनियर ने वर्ष 1910 सबसे पहले इसका पता लगाया था I सिंघनपुर के शैल चित्र विश्वविख्यात है I
इन चित्रो में चित्रित मनुष्य की आकृति कही तो सीधी और ड़ण्डेनुमा है और कहीं सीढ़ीनुमा है I
इस काल में लोगों को लेखन की जानकारी नहीं थी I अतः इस समाज की जानकारी किसी लिखित अभिलेख के आदार पर नहीं , बल्कि पुरातत्व की सहायता , औजार, व अन्य शिल्प के आधार पर प्राप्त की जाती है I
आदिमानव के पास जीवन-यापन के बहुत कम साधन थे I धीरे-धीरे मानव मस्तिस्क का विस्तार हुआ और वह अपने ज्ञान को बढ़ाने लगा प्रकृति ने जो उसे साधन दिए थे , उसने उनका उपयोग करना ठीक से आरम्भ कर दिया I इस स्थिति में पहुचने के लिए उसे काफी समय लग गया I
इस दौरान पत्थरों को नुकीला कर  औजार और हथियार बनाना सिख लिया I वनों से आच्छादित छत्तीसगढ़ मे आज भी कही कही चट्टानों और वनों में पर प्राचीन काल की विभिन्न कला के रूप में दिखाई देते हैं I
शैलचित्र  प्राचीन मानवीय सभ्यता के विकास को प्रारम्भिक रूप से स्पष्ट करतें है I शैल चित्र मानव मन के विचारों को ब्यक्त करने के माध्यम थे  I इससे पता चलता है की इससे पहले उन्हें चित्र कला का ज्ञान था I
      तो दोस्तों आज के ज्ञान का पिटारा बस इतना ही और अधिक जानकारी के लिये मेरे ब्लॉग का अवलोकन करते रहें I
   MERE BLOG KA LOGIN ID YE HAI  -           
                                                          atozhindime.blogspot.com                          
                                                                                         THANKS FOR READING 
इससे सम्बंधित जानकारी के लिए फेशबुक पर भी लॉगीन कर सकते हैं FB ID FACEBOOK.COM/KHILAWANPATEL

No comments:

Post a Comment

Thanks for tip