चीजल ( छैनी ) क्या है ?

चीजल डीजल मैकेनिक कोर्स में प्रयोग होने वाला एक महत्वपूर्ण कटिंग या काटने के लिए प्रयोग किया जाने वाला औजार है। इसे मैकेनिकल भाषा में छैनी कहा जाता है। छैनी द्वारा फ्लैट, राउण्ड , एंगल आयरन तथा 1/8'' तक मोटी धातु की चद्दरों को काटा जा सकता है। छैनी द्वारा जॉब की सतह से अनावश्यक धातु को छोटे-छोटे टुकड़ों के रूप में काटकर अलग करने (छीलने का कार्य किया जाता है।) यह कार्य चिपिंग( CHIPPING ) कहलाता है।

छैनी द्वारा की गयी कटाई रफ होती है छैनी द्वारा काटे गए पार्ट की फिनिशिंग की आवश्यकता होती है। लेकिन इससे कार्य जल्दी होता है।

छैनी को हाई कार्बन स्टील से बनाया जाता है। जिसमें 0.75% से 1.0% तक कार्बन की मात्रा होती है। छैनी की लम्बाई विभीन्न कार्यों के लिए 50 मिमी. से 200 मिमी. तक होती है। अधिकतर 150 मिमी. तक लम्बाई की छैनी का प्रयोग किया जाता है। व्यवहारिक रूप से छैनी की माप उसके काटने वाले अग्र भाग की चौड़ाई से जानी जाती है।

छैनी में निम्नलिखित मुख्य भाग होते हैं-

जिनको मैंने अपने चित्र के माध्यम से भी प्रस्तुत करने का प्रयास भी किया है।
  1. हैड (HEAD)
  2. बॉडी (BODY)
  3. फोर्जिंग एंगल (FORGING ANGLE)
  4. कटिंग एंगल (CUTTING ANGLE)
1. हैड (Head)- यह छैनी के ऊपर वाले भाग का नाम है जिसे हथौड़े से वार किया जाता है। इसे हम समान्य भाषा में मत्था भी कह सकते हैं। जो की टेपर लिए या फ़्लैट होता है।

2. बॉडी (Body)- यह चीजल या छैनी का मध्य भाग होता है जो की प्रायः गोल होता है। लेकिन यह कभी कभी चौकोर या आयताकार भी होता है। यह किसी लोहार या कारीगर के द्वारा किसी छड़ को भी आगे भाग को नुकीला करके बनाया जा सकता है , इसके कटिंग एंगल को ध्यान में रखकर।

3. फोर्जिंग एंगल (Forging Angle)- यह छैनी या चीजल के आगे में बने नुकीले भाग के जस्ट ऊपर का भाग होता है जो की बॉडी से होता हुआ कटिंग एंगल या एड्ज जो जोड़ता है। यह बॉडी से पतला होता हुआ धीरे-धीरे पतला होता है।

4. कटिंग एंगल या एड्ज (Cutting Edge)- चीजल का नुकीला भाग ही कटिंग एड्ज कहलाता है।


छैनी का प्रयोग करते समय किसी निम्नलिखित धातुओं के लिए उनके कटिंग एंगल अलग-अलग होते हैं जो इस प्रकार से है
  1. माइल्ड स्टील ( MILD STEEL ) = 55°
  2. कास्ट आयरन ( CAST IRON ) = 60°
  3. टूल स्टील ( TOOL STEEL ) = 65 ° - 70° तक
  4. ताँबा ( COPPER ) = 45°
  5. एल्युमिनियम ( ALUMINIUM ) = 30°
  6. पीतल ( BRASS ) = 50°
    इस प्रकार से चीजल एक बहुत ही उपयोगी औजार है और इसके प्रकार बहुत सारे हैं इसलिए मैं इन सब का वर्णन यहां नहीं कर सकता हूँ। अगर आपको इनके प्रकारों के बारे में जानना हो तो यहां क्लिक करें।
       धन्यवाद !


    <Go to previous                      Go to Next>

    Related Posts

    Subscribe Our Newsletter